HomeOI-News

Vice President greets the nation on the eve of Gandhi Jayanti

Vice President's Secretariat Vice President greets the nation on the eve of Gandhi Jayanti Posted On: 01 OCT 2021 3:01PM by PIB Delhi The Vice

Vice President’s Secretariat

Vice President greets the nation on the eve of Gandhi Jayanti

Posted On: 01 OCT 2021 3:01PM by PIB Delhi

The Vice President, Shri M. Venkaiah Naidu has greeted the nation on the occasion of Gandhi Jayanti.

Following is the full text of his message –

“I convey my warm greetings and good wishes to the people of our country on the occasion of the birth anniversary of the Father of our Nation – Mahatma Gandhi.

Mahatma Gandhi showed the world a novel way of struggle against injustice – that of truth and non-violence and left an ever-lasting imprint on humanity. He founded his efforts to liberate India from colonial rule on the values of Truth (Satyagraha) and Non-Violence (Ahimsa). He remains a champion and icon of the oppressed, even in the 21st century.

Gandhiji lived by personal example and said that his life is his message. We can draw inspiration from his life and philosophy on sustainable development, self-reliance, empowerment of the marginalised and the push for ‘gram swarajya’. These themes in Gandhiji’s thought have become ever more relevant in the modern day. His life continues to be a beacon of light for the country, guiding our national progress.

Gandhiji’s principle of Ahimsa will continue to guide us and the rest of the world in our shared quest for peace, harmony and universal brotherhood.

I once again extend my heartiest wishes to the citizens of our country on the occasion of Mahatma Gandhi Jayanti.

Jai Hind!”

Following is the Hindi version of the message –

मैं राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जयंती के अवसर पर अपने देशवासियों को हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं देता हूँ।

महात्मा गांधी ने विश्व को अन्याय के खिलाफ लड़ाई का एक नया रास्ता – सत्य और अहिंसा का रास्ता दिखाया और मानवता पर अमिट छाप छोड़ी।

उन्होंने भारत को औपनिवेशिक शासन से आजाद कराने के लिए अपने प्रयासों को सत्य (सत्याग्रह) और अहिंसा के मूल्यों पर स्थापित किया। 21वीं सदी में भी वे शोषितों के हिमायती और प्रतिनिधि बने हुए हैं।

गांधीजी ने अपने व्यक्तिगत जीवन को उदाहरणस्वरूप पेश किया और कहा कि उनका जीवन ही उनका संदेश है। हम उनके जीवन और दर्शन से सतत विकास, आत्मनिर्भरता, गरीबों के सशक्तिकरण और ग्राम स्वराजकी प्रेरणा ले सकते हैं। गांधीजी की विचारधारा के ये विषय आधुनिक समय में और अधिक प्रासंगिक हो गए हैं। उनका जीवन देश के लिए प्रकाश का स्त्रोत बना हुआ है जो हमारे राष्ट्र की प्रगति में हमारा मार्गदर्शन कर रहा है।

गांधीजी का अहिंसा का सिद्धांत हमारी शांति, सद्भावना और सार्वभौमिक भाईचारे की साझा खोज में हमारा और शेष विश्व का मार्गदर्शन करता रहेगा।

मैं पुन: महात्मा गांधी जयंती के अवसर पर देशवासियों को अपनी हार्दिक शुभकामनाएं देता हूँ।

जय हिंद!

*****

MS/RK/DP

(Release ID: 1759937) Visitor Counter : 140